(पंजाब दैनिक न्यूज़) सिखों के पवित्र स्थान गुरुद्वारा श्री हेमकुंड साहिब जी के दर्शन इस बार श्रद्धालु 10 मई से कर सकेंगेई गाइडलाइन को ध्यान में रखते हुए श्रद्धालुओं को आना होगा I श्री हेमकुंड मैनेजमेंट ट्रस्ट के मनजिंदर जीत सिंह बिंद्रा की ओर से बताया गया कि इस बार गुरु घर गोविंद धाम से श्री हेमकुंट साहिब तक के 2 किलोमीटर के रास्ते में बर्फ को हटाने के लिए भारतीय सेना की 418 इंडिपेंडेंट इंजीनियरिंग कोर के जवान पहुंच गए हैं इस मार्ग पर दिन रात मेहनत से बर्फ हटाने का काम कर रहे हैं बिंद्रा ने बताया कि इस समय गुरु घर के पास 8 से 9 फीट तक बर्फ पड़ी हुई है गुरुद्वारा सरोवर और आसपास के क्षेत्र पूरी तरह से बर्फ से ढका हुआ है हालांकि पिछले साल इन दिनों यहां 20 फीट से अधिक तक बर्फ जमी रहती थी लेकिन इस बार बर्फ कम है उन्होंने बताया कि यात्रा के अंतिम पड़ाव घांघरिया में बर्फ नहीं है लेकिन अटला कुड़ी में हेमकुंड साहिब तक चारों और बर्फ जमी है I

उत्तराखंड के चमोली जिले में स्थित यह गुरु घर 15200 फीट की ऊंचाई पर हैIगुरु घर गोविंदघाट के सेवादार सेवा सिंह ने बताया कि दर्शन के लिए आने वाले तीर्थ यात्रियों को किसी भी तरह की दिक्कत नहीं होने दी जाएगी Iइस बार तीर्थ यात्रा 15 दिन पहले शुरू हो रही है इसलिए अभी से तैयारियां शुरू कर दी गई है I उन्होंने बताया कि पिछले साल अधिक बर्फ और बाद में कोविड-19 होने के कारण यात्रा  केवल एक ही महीना चल पाई थी लेकिन इस साल बर्फ कम है I इस बार हेमकुंड साहिब के कपाट 10 मई को खुल रहे हैं Iइसके लिए तैयारियां शुरू हो गई हैं I

.

LEAVE A REPLY