नई दिल्ली/वाशिंगटन (पंजाब दैनिक न्यूज़)   अमेरिका में एस्ट्राजेनेका की कोरोना वैक्सीन के फेज-3 ट्रायल का डेटा सामने आया है, जिसमें इसे 79 से 100 फीसदी तक प्रभावी पाया गया है। सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) ने सोमवार को ट्वीट कर लिखा, ”अमेरिका में एस्ट्राजेनेका वैक्सीन के तीसरे फेज के ट्रायल का डेटा दर्शाता है कि लक्षण वाली बीमारी के खिलाफ 79 फीसदी प्रभावी है जबकि गंभीर रोग और हॉस्पिटलाइजेशन के खिलाफ 100 फीसदी प्रभावी है।” गौरतलब है कि दुनिया की सबसे बड़ी वैक्सीन कंपनी SII भारत में इस वैक्सीन का उत्पादन कर रही है।एस्ट्राजेनेका ने अपनी वेबसाइट पर एक प्रेस रिलीज में लिखा कि AZD1222 (Covishield) के अमेरिका में तीसरे चरण के ट्रायल में वैक्सीन को लक्षणों के साथ कोरोना के खिलाफ 79 फीसदी और गंभीर रोग तथा हॉस्पिटलाइजेशन के खिलाफ 100 फीसदी प्रभावी पाया गया है। यह अंतरिम सुरक्षा और प्रभावकारिता विश्लेषण 32,449 प्रतिभागियों पर आधारित है, जिनमें से 141 को लक्षणों के साथ कोरोना था। बता दें कि भारत ने एस्ट्राजेनेका की वैक्सीन ‘कोविशील्ड’ और भारत बायोटेक तथा आईसीएमआर द्वारा बनाई गई ‘कोवैक्सीन’ को आपातकालीन मंजूरी दे रखी है।भारत में कोविशील्ड टीके पर नई गाइडलाइन्स भारत सरकार ने सोमवार को कोविशील्ड टीके की दूसरी खुराक लेने के समय अंतराल को संशोधित किया और सभी राज्यों तथा केंद्र शासित प्रदेशों को इसे 4-6 सप्ताह के बीच देने के बजाय 4-8 सप्ताह के बीच देने के लिए कहा। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने सोमवार को इस संबंध में जानकारी दी।

मंत्रालय ने कहा, ‘‘उभरते वैज्ञानिक साक्ष्यों के मद्देनजर विशिष्ट कोविड-19 टीका यानी कोविशील्ड की दो खुराक के बीच के समय अंतराल को टीकाकरण पर राष्ट्रीय तकनीकी सलाहकार समूह (एनटीएजीआई) और उसके बाद एनईजीवीएसी द्वारा उसकी 20वीं बैठक में पुनरीक्षित किया गया है, जिसके तहत पहली खुराक के बाद कोविशील्ड की दूसरी खुराक 4-6 सप्ताह के अंतराल की बजाय 4-8 सप्ताह के अंतराल पर देने की सिफारिश की गई है।’’ केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने सोमवार को राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के मुख्य सचिवों को लिखे पत्र में कहा कि मंत्रालय ने एनटीएजीआई और एनईजीवीएसी की सिफारिशों को स्वीकार कर लिया है। उन्होंने कहा, ‘‘इसके बाद राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को सलाह दी है कि पहली खुराक के 4-8 सप्ताह के समय अंतराल के भीतर लाभार्थियों को कोविशील्ड की दूसरी खुराक देना सुनिश्चित किया जाए।’’

मंत्रालय ने कहा कि दो खुराक के बीच संशोधित समय अंतराल का यह फैसला केवल कोविशिल्ड टीके पर लागू है और कोवैक्सीन टीके पर नहीं। केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव ने राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों से आग्रह किया है कि वे संबंधित अधिकारियों को तदनुसार आवश्यक कदम उठाने के निर्देश दें।

LEAVE A REPLY