(पंजाब दैनिक न्यूज़)  जालंधर ज़िले में कोविड वैक्सीन के लिए सभी सैशन साईट (49 सरकारी और 45 प्राईवेट) की तरफ से रोज़ाना की 9400 कोविड टीका लगाने के लिए पूरी सामर्थ्य से काम करना शुरू कर दिया गया है। उन्होनें बताया कि 49 सरकारी स्वास्थ्य संस्थानों जिनमें 9 ग्रामीण कम्युनिटी हैल्थ सैंटर, 2 सब डिविज़नल स्वास्थ्य सैंटर, 28 प्राईमरी और मिनी प्राईमरी स्वास्थ्य सैंटर और 10 अरबन साईट शामिल है।

डिप्टी कमिश्नर ने आगे बताया कि रोज़ाना 5000 कोविड सैंपल लिए जा रहे है, जबकि गुरूवार को 5300 सैंपल लिए गए थे। उन्होनें बताया कि पिछले सात दिनों के दौरान 24992 कोविड सैंपल लिए गए हैं। उन्होंने यह भी जानकारी दि कि ज़िले में राज्य भर में से सबसे अधिक कोविड टैस्ट 10 लाख की आबादी पीछे 3,06,680 कोविड सैंपल लिए गए हैं। डिप्टी कमिश्नर ने आगे बताया कि कि ज़िले में कोविड व्यक्ति के संपर्क में आए लोगों की पहचान 18.6 की रेषों के साथ करने के इलावा माईक्रो कंटेनमैंट जोनों में 100 प्रतिशत सैंपल लिए जा रहे हैं।

डिप्टी कमिश्नर ने बताया कि उच्च पाजिटिव दर रैपिट एंटीजन टैस्ट (आरएटी) से आ रही है। उन्होनें बताया रैपिट एंटीजन टैस्ट करने से ज़िले में नए मामलों में विस्तार हुआ है। उन्होनें बताया कि ज़िले में कोविड के  कारण होने वाली मृत्यु दर काबू में है और ज़िला राज्य भर में दसवें स्थान पर है जो कि 3.17 प्रतिशत है, जिसको आने वाले समय में काबू में रखा जायेगा।

कोविड टीकाकरण अभियान की बात करते हुए डिप्टी कमिश्नर ने बताया कि अब तक 10619 स्वास्थ्य संभाल श्रमिकों, 12393 फ्रंट लाईन श्रमिकों, 45 से 59 साल के 3696 लाभपातरी जिनको अन्य सह बीमारी है और 60 साल से ऊपर के 16090 बुज़ुर्गों को कोविड वैक्सीन लगाई जा चुकी है।

कोविड प्रोटोकाल की पालना के लिए चलाए गए अभियान के बारे में जानकारी देते हुए डिप्टी कमिश्नर ने बताया कि पिछले सात दिनों के दौरान 2372 लोगों को मास्क न पहनने पर 23,72,000 रुपए जुर्माना किया गया है। उन्होनें बताया कि इसके इलावा सामाजिक दूरी को बरकरार रखने के लिए बारीकी से निगरानी की जा रही है

.

LEAVE A REPLY