जालंधर( पंजाब दैनिक न्यूज़)   डिप्टी कमिश्नर घनश्याम थोरी ने आज आधिकारियों को कोविड -19 महामारी को फैलने से रोकने के लिए सभी माईक्रो -कंटेनमैंट जोनों में कर्फ़्यू जैसी सख़्ती के निर्देश दिए।मुख्य सचिव विनी महाजन की अध्यक्षता में हुई वीडियो -कान्फ़्रैंस में भाग लेने के बाद डिप्टी कमिश्नर ने सिविल और स्वास्थ्य आधिकारियों को माईक्रो -कंटेनमैंट ज़ोन पर तीखी नज़र रखने के लिए कहा। उन्होनें कहा कि कोविड -19 महामारी को फैलने से रोकने के लिए इन जोनों में पूरी सख़्ती होनी चाहिए।

थोरी ने कहा कि जालंधर में सिर्फ़ एक माईक्रो कंटेनमैंट जोन कारयशील है और कोविड के लिए क्षेत्र में समूह व्यक्तियों की जांच की गई है। उन्होनें आधिकारियों को कहा कि वह इन जोनों में सरकार के दिशा -निरदेशों, विशेषकर कोविड उचित व्यवहार को लागू करने को यकीनी बनाए। उन्होनें आधिकारियों को यह भी यकीनी बनाने के लिए कहा कि इन जोनों में वाहन और व्यक्तियों की कोई यातायात न हो।उन्होनें कहा कि कंटेनमैंट जोनों में नियमों का उल्लंघन करने पर सख़्ती की जाये, और किसी भी तरह की लापरवाही के लिए सम्बन्धित क्षेत्र का अधिकारी जवाबदेह होगा।

उन्होनें आधिकारियों को मैरिज पैलेसें में लोगों पर निगरानी रखने के आदेश दिए और उनको सुपरवाइज़र तैनात करने के लिए कहा, जिससे इकठ करने संबंधी राज्य सरकार के आदेशों को पूरी तरह लागू किया जा सके। उन्होनें लोगों को कोविड उचित व्यवहार प्रति जागरूक करने के लिए बाज़ारों में पब्लिक एड्रैस व्यवस्था लगाने की बात भी रखी।इसके इलावा उन्होनें स्वास्थ्यों टीमें को कहा कि वह रोज़ाना की 6000 सैंपलिंग करने और सकारात्मक मामलों को एकांतवास करने के इलावा सकारात्मक व्यक्तियों के हर संपर्क की सैंपलिंग को जितनी जल्दी संभव हो सके, यकीनी बनाए।

उन्होनें पुलिस आधिकारियों को उन लोगों विरुद्ध चालान अभियान शुरू करने के लिए कहा, जो मास्क, सामाजिक दूरी सहित अन्य कोविड प्रोटोकोलज़ का उल्लंघन कर रहे हैं। उन्होनें बताया कि मास्क न पहनने पर 66,601 चालान किये गए और उल्लंघन करने वालों के पास से 3,17,49,600 रुपए जुर्माने के तौर पर वसूले गए। इसी तरह थूकने, घरेलू एकांतवास का उल्लंघन करने, सामाजिक दूरी कायम न रखने पर चालान भी जारी किये गए।

.

डिप्टी कमिश्नर ने बुज़ुर्गों और सह -रोग वाले 45 से 59 साल उम्र के लोगों सहित सभी लाभपातरियों को आगे आ कर टीका लगवाने की अपील की। उन्होनें सभी सरकारी अध्यापकों को कहा कि वह स्कूलों में फैल रहे वायरस की रोकथाम के लिए कोविड -19 का टीका आवश्य लगवाए।उन्होनें बताया कि जिले में 8374 हैल्थ केयर, 9830 फ्रंटलाईन, 60 से पर 1254 और सह -रोग वाले 45 साल से अधिक उम्र के 148 लोग टीका लगवा चुके हैं।

उन्होनें मुख्य सचिव को यह भी बताया कि औसतन 4000 सैंपल प्रति दिन के अनुसार जालंधर में पिछले दिनों दौरान 22427 सहित अब तक 6.44 लाख नमूने एकत्रित किये गए हैं, और पिछले हफ्ते में स्कूलों में से 4401 सैंपल लिए गए हैं। उन्होनें बताया कि जालंधर ने 15.3 प्रतिशत कान्ट्रैक्ट ट्रेसिंग दर्ज की है और कुल संपर्कों में से लगभग 84.90 प्रतिशत के टैस्ट किये गए हैं।

डिप्टी कमिश्नर ने आगे कहा कि कुल 481 स्तर -2 बैड, 132 स्तर -3 बैड और 72 वैंटिलेटर जालंधर में हैं और आधिकारियों को बुनियादी ढांचे को बढ़ाने के आदेश दिए गए हैं।उन्होनें कहा कि राज्य और जिले की तरफ से ‘अदृश्य दुशमण ’ ख़िलाफ़ जंग लड़ी रही है और आधिकारी पहले ही सख़्त डियूटी निभा रहे है। डिप्टी कमिश्नर ने आधिकारियों को अपनी डियूटी पूरे जोश से करने के लिए कहा।

इस दौरान डिप्टी कमिश्नर की तरफ से अगले आदेशों तक जिले में रात 11 बजे से प्रातःकाल 5 बजे तक रात का कर्फ़्यू लागू कर दिया गया। कुछ श्रेणियों को उनके कामकाज को जारी रखने के लिए कर्फ़्यू से छूट भी दी गई है।इस अवसर पर एसएसपी डा. सन्दीप गर्ग, अतिरिक्त डिप्टी कमिश्नर विशेष सारंगल, एसडीएम गौरव जैन, सिविल सर्जन डा. बलवंत सिंह और ज़िला टीकाकरण अधिकारी राकेश कुमार भी मौजूद थे

LEAVE A REPLY