(पंजाब दैनिक न्यूज़) दिल्ली के मंगोलपुरी में रिंकू शर्मा की हत्या का पांचवां आरोपी भी गिरफ्तार हो गया है. पुलिस ने सियासी एंगल होने से इनकार कर दिया है. हत्या के बाद इलाके में तनाव का माहौल है. पूरा इलाके को छावनी में तब्दील कर दिया गया है. पुलिस ने अबतक 5 आरोपियों नसीरूद्दीन, इस्लाम, जाहिद, मेहताब, ताजुद्दीन उर्फ ताजू को गिरफ्तार किया है.

मृतक रिंकू शर्मा के घरवालों का आरोप है कि जय श्रीराम का नारा लगाने के चलते उसकी हत्या हुई. केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने सवाल उठाया है कि आखिर राम भक्त रिंकू का क्या कसूर था? दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने रिंकू के घर जाकर परिजनों से मुलाकात की और 5 लाख की आर्थिक मदद का एलान किया. इसके साथ ही बीजेपी नेता ने पीड़ित परिवार को दिल्ली सरकार से एक करोड़ रुपये की सहायता दिये जाने की मांग की.

पुलिस के मुताबिक, पांचवें आरोपी की पहचान ताजुद्दीन (29) के रूप में हुई है जोकि पहले होम गार्ड के तौर पर कार्य करता था. इससे पहले पुलिस ने गुरुवार को चार अन्य आरोपियों जाहिद, मेहताब, दानिश और इस्लाम को गिरफ्तार किया था. पुलिस ने कहा कि घटना की सीसीटीवी फुटेज में दिखाई दे रहा है कि आरोपी पीड़ित के घर की तरफ लाठियां लेकर जा रहे हैं. रिंकू शर्मा लैब टेक्निशियन के तौर पर कार्यरत था. घटना के बाद से ही इलाके में किसी भी अप्रिय घटना से बचाव के लिए पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है.

दिल्ली पुलिस के जनसंपर्क अधिकारी चिन्मय बिस्वाल ने कहा कि 10 फरवरी को एक इलाके के कुछ युवक जन्मदिन की पार्टी मनाने एक रेस्त्रां में एकत्र हुए थे. पार्टी के दौरान एक रेस्त्रां को बंद किए जाने को लेकर झगड़ा हुआ. यह एक पुरानी कारोबारी मसला था. झगड़ा होने के बाद सभी अपने घरों को लौट गए. बाद में कुछ युवक रिंकू शर्मा के घर पहुंचे और उन्हें चाकू मारकर घायल कर दिया. रिंकू को अस्पताल ले जाया गया, जहां उनकी मौत हो गई.

सांप्रदायिक कोण के आरोपों को खारिज करते हुए बिस्वाल ने कहा कि अब तक की जांच में जन्मदिन की पार्टी में झगड़े के बाद यह घटना होने की बात सामने आई है. रिंकू शर्मा की बुधवार को चाकू मारकर हत्या कर दी गई थी.

आदमी पार्टी ने एक बयान में आरोप लगाया कि दिल्ली में कानून व्यवस्था के हालात बिगड़ चुके हैं और ऐसी कई घटनाएं यह दर्शाती हैं कि गृह मत्रालय दिल्ली में कानून-व्यवस्था को बनाए रखने में नाकाम रही है. बयान में कहा गया, ‘हम निर्मम हत्या की निंदा करते हैं और केंद्रीय गृह मंत्रालय से दिल्ली के लोगों में कानून-व्यवस्था के प्रति विश्वास बहाली के लिए तत्काल कदम उठाने का अनुरोध करते हैं.’

.

मगोलपुरी में शर्मा के परिजन से मुलाकात के बाद गुप्ता ने कहा, ‘ रिंकू शर्मा सामाजिक रूप से सक्रिय थे. वह राम मंदिर निर्माण के लिए चंदा एकत्र करने में भी शामिल थे. बीजेपी उनकी निर्मम हत्या की निंदा करती है.’ बीजेपी नेता ने मामले की सुनवाई फास्ट ट्रैक अदालत में करने की भी मांग की. विश्व हिंदू परिषद समेत कई हिंदूवादी संगठनों ने दावा किया है कि राम मंदिर निर्माण के लिए चंदा एकत्र करने से जुड़े होने के चलते शर्मा की हत्या कर दी गई.

LEAVE A REPLY