(पंजाब दैनिक न्यूज़) पाकिस्‍तान ने आखिर एक बार फि‍र भारत के साथ व्‍यापार शुरू करने का ऐलान बुधवार को कर दिया। दोनों देशों के बीच 19 माह से बंद पड़े व्‍यापार को अब एक बार फ‍िर से चालू किया जाएगा। पाकिस्‍तान की इकोनॉमिक को-ऑर्डिनेशन कमेटी (ECC) ने बुधवार को प्राइवेट सेक्‍टर को भारत से 5,00,000 लाख टन सफेद चीनी और कपास का आयात करने की मंजूरी प्रदान कर दी है। पाकिस्‍तान के वित्‍त मंत्री हम्‍माद अजहर ने खुद इसकी जानकारी दी।

वित्‍त मंत्री ने बताया कि पाकिस्‍तान कपास का आयात भी भारत से जून से शुरू करेगा। नए वित्‍त मंत्री की अध्‍यक्षता में आज हुई ईसीसी की बैठक में 21 बिंदुओं पर चर्चा की गई। एजेंडा नंबर 16 में टेक्‍सटाइल डिवीजन ने ईसीसी से वैल्‍यू-एडेड टेक्‍सटाइल सेक्‍टर के लिए कच्‍चे माल की कमी को दूर करने के लिए भारत से कपास और कपास धागे के आयात पर लगे प्रतिबंध को हटाने की मांग की थी।इसके अलावा एजेंडा नंबर 20 में कॉमर्स मिनिस्‍ट्री ने ट्रेडिंग कॉरपोरेशन ऑफ पाकिस्‍तान और कमर्शियल इम्‍पोटर्स के माध्‍यम से भारत से सफेद चीनी के आयात को मंजूरी देने की अपील की थी।

पाकिस्तान की तरफ से कपास और चीनी आयात को अनुमति दिए जाने के बाद दोनो देशों के बीच आशंकि व्यापार फिर से खुलने जा रहा है। भारत ने अगस्त 2015 में जब जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा खत्म करने का फैसला किया था तो पाकिस्तान ने भारत के साथ व्यापार रोक दिया था। हालांकि पिछले साल जब पाकिस्तान में कोरोना के मामले तेजी से बढ़े थे तो उस समय भी पाकिस्तान ने भारत से दवाओं के आयात को शुरू कर दिया था।

अभी तक पाकिस्तान अपनी जरूरत को पूरा करने के लिए भारत को छोड़ दुनिया के अन्य देसों से कपास, धाका और चीनी का आयात कर रहा था लेकिन दुनिया के दूसरे देशों से आयात करना उसे भारी महंगा पड़ रहा था। पाकिस्तान में महंगाई की मार जनता की कमर तोड़ रही है और सरकार पर महंगाई को कम करने का दबाव है, पाकिस्तान की जनता के दबाव के सामने झुकते हुए अब पाकिस्तान ने भारत से चीनी और कपास के आयात को खोलने का फैसला किया है।

.

LEAVE A REPLY