(पंजाब दैनिक न्यूज़) कोरोना वायरस महामारी के फिर से बढ़ते खतरे को देखते हुए राजस्थान सरकार ने बड़ा निर्णय लेते हुए कुछ राज्य से आने वाले लोगों के लिए कोरोना टेस्ट दिखाना जरूरी कर दिया है। राजस्थान सरकार ने गुजरात, मध्य प्रदेश, हरियाणा और पंजाब से आने वाले लोगों के लिए राजस्थान में प्रवेश करने पर कोविड आरटी-पीसीआर टेस्ट की रिपोर्ट दिखानी अनिवार्य कर दी है।

राज्य गृह विभाग ने बताया, “गुजरात, मध्य प्रदेश, हरियाणा और पंजाब से आने वाले लोगों को राजस्थान में प्रवेश करने के लिए कोविड आरटी-पीसीआर टेस्ट की रिपोर्ट दिखानी होगी।” गौरतलब है कि राजस्थान में कोरोना वायरस संक्रमण के शनिवार को 243 नए कोविड-19 मामले सामने आए, जिसके साथ ही कुल संक्रमतों की संख्या 3,21,356 हो गई।राज्य स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, पिछले 24 घंटों में 243 नए कोरोना केस मिलने के अलावा, 114 लोग कोरोना को हराकर ठीक हो गए, इसके साथ ही राज्य में कुल ठीक होने वाले लोगों की संख्या 3,16,864 हो गई। फिलहाल, राज्य में सक्रिय मामलों की संख्या 1,703 है। यहां अभी तक कुल 2,789 लोगों की संक्रमण के कारण मौत हो चुकी है।राजस्थान में शनिवार को 75 वर्षीय समाजवादी नेता और भरतपुर के पूर्व सांसद पंडित रामकिशन उन लोगों में शामिल थे, जिन्हें कोविड-19 वैक्सीन दी गई। अभियान के तहत 60 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों और 45 साल से अधिक उम्र के उन लोगों को वैक्सीन दी गई, जो कई जटिल रोगों से ग्रस्त हैं। पूर्व सांसद रामकिशन ने जयपुर के एक निजी अस्पताल में वैक्सीन की पहली खुराक ली।

LEAVE A REPLY