सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने कृषि कानूनों के खिलाफ अनिश्चितकालीन अनशन को टालने की घोषणा की हैI उन्होंने कहा था कि वो केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों के खिलाफ शनिवार को महाराष्ट्र में अपने गांव रालेगन सिद्धि में अनिश्चितकालीन अनशन शुरू करेंगे, लेकिन उन्होंने अनिश्चितकालीन अनशन को टालने का फैसला किया हैI

अन्ना हजारे ने गुरुवार को जारी एक बयान में कहा था कि मैं कृषि क्षेत्र में सुधारों की मांग करता रहा हूं, लेकिन केंद्र सही फैसले लेते नहीं दिख रहा हैI हजारे ने कहा था कि किसानों को लेकर केंद्र कतई संवेदनशील नहीं है, इसीलिए मैं 30 जनवरी से अपने गांव में अनिश्चितकालीन अनशन शुरू कर रहा हूंI हालांकि शाम के समय केंद्र सरकार के प्रतिनिधियों ने उनसे बातचीत की थी, जिसके बाद उन्होंने अनशन न करने का फैसला कियाI

LEAVE A REPLY