दिल्ली (पंजाब दैनिक न्यूज़) सीबीएसई की 10वीं, 12वीं की बोर्ड परीक्षा (2021) 4 मई से शुरू होगी और 10 जून तक चलेगी. इसके साथ-साथ प्रैक्टिकल परीक्षाएं 1 मार्च से शुरू होंगी. शिक्षा मंत्री (Education Minister) ने हाल ही में बोर्ड परीक्षा (Board Exam 2021) की तारीखों का ऐलान किया था. इस बीच शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल ने कहा कि छात्रों को केवल अपने CBSE बोर्ड परीक्षा और सीबीएसई बोर्ड के पाठ्यक्रम 2021 पर आधारित अन्य परीक्षाओं के लिए संशोधित पाठ्यक्रम का अध्ययन करना होगा. JEE और NEET जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं में भी केवल उसी भाग से पूछे जाएंगे, CBSE की 10वीं, 12वीं बोर्ड परीक्षा को लेकर
शिक्षा मंत्री ने केंद्रीय विद्यालय के छात्रों से लाइव इंटरैक्शन किया. केंद्रीय विद्यालय के हजारों छात्र और शिक्षक इस लाइव वेबिनार में शामिल हुए. इस दौरान शिक्षा मंत्री ने केंद्रीय विद्यालयों को फिर से खोलने की बात की है. उन्होंने कहा कि सरकार एक बार में एक कक्षा के स्टूडेंट्स के लिए केंद्रीय विद्यालय को चरणबद्ध तरीके से खोलने पर विचार कर रही है. शिक्षा मंत्री ने कहा कि ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों माध्यमों में कक्षाओं का संचालन किया जाएगा
अपने संबोधन के दौरान शिक्षा मंत्री ने कई सवालों के जवाब दिए और उन्हें तनाव मुक्त रहने के टिप्स भी दिए. उन्होंने छात्रों को योग की सलाह भी दी. उन्होंने कहा कि अचानक से आई कोविड-19 महामारी के कारण हम सभी ने मुश्किलों का सामना किया है. प्रत्येक व्यक्ति को स्वयं, अपने परिवार और पड़ोसियों की रक्षा करके इस महामारी से निपटना होगा. मालूम हो कि शिक्षा मंत्री ने बोर्ड परीक्षाओं की तीरीखों की घोषणा के दौरान कहा था कि CBSE Board Exam कम पाठ्यक्रम पर आयोजित की जाएगी. कुल सिलेबस में 30% की कटौती की गई हैं और कुछ राज्यों ने भी इसी तरह के कदम की घोषणा की है, जबकि अन्य से भी ऐसा ही करने की उम्मीद है. पोखरियाल ने कहा था कि परीक्षा में 33% आंतरिक विकल्प भी होंगे I

LEAVE A REPLY