(पंजाब दैनिक न्यूज़) अमेरिका में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने 20 जनवरी को होने वाले शपथ ग्रहण समारोह में जाने से इंकार कर दिया हैI दरअसल, अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडेन 20 जनवरी को राष्ट्रपति पद की शपथ लेंगेI बाइडेन के हाथों हार का सामना करने वाले डोनाल्ड ट्रंप के समारोह में जाने को लेकर सस्पेंस बना हुआ था, लेकिन अब उन्होंने यह बात साफ कर दी है कि वो समारोह में शामिल नहीं होंगेIकांग्रेस की मंजूरी के बाद जो बाइडेन आधिकारिक तौर पर अमेरिका के राष्ट्रपति होंगेI इस फैसले के बाद राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने बयान दिया हैI उन्होंने कहा कि 20 जनवरी को कानून के मुताबिक जो बाइडेन को सत्ता का हस्तांतरण किया जाएगाI डोनाल्ड ट्रंप ने अपने बयान में कहा कि वो चुनावी नतीजों का समर्थन नहीं करते हैं, लेकिन इसके बावजूद सत्ता को जो बाइडेन को सही तरीके से सौंपेंगेI डोनाल्ड ट्रंप ने हार नहीं स्वीकार की और उन्होंने चुनाव के नतीजों को कोर्ट में चुनौती देने का ऐलान किया हैI वहीं, कांग्रेस की मुहर के बाद डेमोक्रेटिक पार्टी के जो बाइडेन को अब 20 जनवरी को अमेरिका के राष्ट्रपति के रूप में शपथ दिलाई जाएगीI उपराष्ट्रपति माइक पेंस ने गुरुवार को घोषणा की कि कांग्रेस ने अमेरिकी चुनाव में जो बाइडेन को विजेता दिखाने वाले इलेक्टोरल कॉलेज की टैली को कंफर्म कर दिया हैIइससे पहले वाशिंगटन स्थित कैपिटल हिल में डोनाल्ड ट्रंप के समर्थकों ने जबरदस्त हंगामा कियाI लंबे संघर्ष के बाद सुरक्षाबलों ने इन्हें बाहर निकाला और कैपिटल हिल को सुरक्षित कियाI वाशिंगटन की हिंसा में अब तक चार लोगों की मौत की पुष्टि हुई हैI
दरअसल,कैपिटल हिल में इलेक्टोरल कॉलेज की प्रक्रिया चल रही थी, जिसके तहत जो बाइडेन के राष्ट्रपति बनने पर मुहर की तैयारी थीI इसी दौरान हजारों की संख्या में ट्रंप समर्थकों ने वॉशिंगटन में मार्च निकाला और कैपिटल हिल पर धावा बोल दियाI यहां डोनाल्ड ट्रंप को सत्ता में बनाए रखने, दोबारा वोटों की गिनती करवाने की मांग की जा रही थीI नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडेन और पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने प्रदर्शन की निंदा की, साथ ही इसके लिए उन्होंने डोनाल्ड ट्रंप को जिम्मेदार ठहरायाI जो बाइडेन ने कहा कि ट्रंप को तुरंत देश से माफी मांगनी चाहिए, अपने समर्थकों को समझाना चाहिएI अमेरिका में हुई हिंसा पर भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी प्रतिक्रिया दीI प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि लोकतंत्र में सत्ता का हस्तांतरण शांतिपूर्ण ढंग से होना जरूरी हैI इस तरह के प्रदर्शनों के जरिए लोकतांत्रिक प्रक्रिया को नुकसान नहीं पहुंचाया जा सकता हैI अमेरिकी संसद में हुए बवाल के बाद व्हाइट हाउस में डिप्टी प्रेस सेक्रेटरी सारा मैथ्यू ने अपना पद त्याग दियाI इसके अलावा मेलानिया ट्रंप की चीफ ऑफ स्टाफ स्टेफनी ग्रीशन ने भी हिंसा के विरोध में पद से इस्तीफा दे दियाI

LEAVE A REPLY