1. (पंजाब दैनिक न्यूज़)  साल 2020 का आखिरी सूर्य ग्रहण आज यानि 14 दिसंबर, सोमवार को शाम 7 बजकर 3 मिनट से शुरू होकर रात 12 बजकर 23 मिनट तक रहेगा। इस सूर्य ग्रहण की कुल अवधि करीब 5 घंटे की रहेगी।

बताया जा रहा है कि यह सूर्य ग्रहण उस समय लगेगा जब भारत में सूर्यास्त होकर शाम हो चुकी होगी इसलिए भारत में रहने वाले लोगों को यह ग्रहण दिख नहीं पाएगा। कहा जा रहा है कि इसकी वजह से यह संभावनाएं भी बन सकती हैं कि यह भारत की परिस्थितियों में बहुत अधिक परिवर्तन लाने वाला साबित न होI यह ग्रहण – साल के अंतिम सूर्य ग्रहण को इसलिए खास माना जा रहा है क्योंकि इस दिन सोमवती अमावस्या है और 16 दिसंबर, बुधवार से खरमास शुरू होने वाला है। इसलिए कहा जा रहा है कि यह संभावनाएं बन सकती हैं कि इस सूर्य ग्रहण का बहुत अधिक नकारात्मक प्रभाव न पड़े। लेकिन साथ में यह भी ध्यान रखना जरूरी है कि इस दौरान यह सावधानियां जरूर बरतें।

कौन-सी सावधानियां बरतनी है जरूरी – सूर्य ग्रहण के दौरान कुछ खास सावधानियां बरतनी जरूरी मानी जाती हैं। खासतौर पर प्रेग्नेंट महिलाओं को खास ख्याल रखने की सलाह दी जाती है। ग्रहण के बीच सूई, कील, तलवार और चाकू जैसी नुकीली वस्तुओं का इस्तेमाल न करें। ध्यान रखें कि ऐसे में खाना खाना, बनाना, सब्जी काटना, आसमान के नीचे खड़े होना और दीपक जलाकर पूजा आदि करना मना होता है।ग्रहण के दौरान क्या करना माना जाता है शुभ – सूर्य ग्रहण के दौरान सूर्य देव के मंत्रों का जाप करें। संभव हो तो भगवान विष्णु की उपासना करें। आप चाहें तो आदित्य हृदय स्तोत्र का पाठ भी कर सकते हैं। पीले रंग के वस्त्र पहनें। ग्रहण की अवधि खत्म होने के बाद मंदिर धोकर स्वयं स्नान कर पूजा करें।

LEAVE A REPLY