(पंजाब दैनिक न्यूज़)  किसान नेताओं ने शनिवार को और सख्त तेवर अपनाते हुए 14 दिसंबर को भूख हड़ताल पर जाने का ऐलान कर दियाI लेकिन उससे पहले आज राजस्थान बॉर्डर से हजारों किसान ट्रैक्टर मार्च निकालेंगे और दिल्ली-जयपुर हाइवे बंद करेंगेI आपको दें कि सरकार की तमाम कोशिशों के बावजूद किसान मान नहीं रहे हैंI शनिवार को वे सरकार पर दबाव की नई रणनीति के साथ उतरेI किसानों ने राजधानी दिल्ली को जोड़ने वाले तमाम हाइवे पर बने टोल प्लाजा पर धावा बोला, लेकिन किसानों ने रास्तों को बंद करने की जगह हाइवे के टोल प्लाजा का शटर गिरा दियाI यानी टोल में गाड़ियों से कलेक्शन नहीं होने दियाI

दिल्ली- हरियाणा- पंजाब- पश्चिमी उत्तर प्रदेश का शायद ही कोई टोल बूथ ऐसा हो जहां किसानों ने शक्ति-प्रदर्शन ना किया होI छोटे बड़े किसानों के जत्थों ने टोल बूथ पर कब्जा जमाया और हाईवे को टोल फ्री कर दियाI टोल कर्मचारियों को हाइवे पर टैक्स वसूलने नहीं दिया गया I  सहारनपुर के तीनों टोल प्लाजा पर 3 घंटे तक किसान जमे रहेI दिल्ली से सटे ग्रेटर नोएडा के NH-91 के टोल को किसानों ने फ्री कर दियाI दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस वे पर किसानों ने प्रदर्शन किया और बिना टोल लिए गाड़ियों को पार करायाI किसानों ने गाजियाबाद में मुरादनगर ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे का टोल प्लाजा फ्री करवा दिया I  किसानों की तैयारी दिल्ली-आगरा और आगरा से लखनऊ को जोड़ने वाले एक्सप्रेसवे को भी फ्री कराने की थी, लेकिन प्रशासन ने यहां भारी तादाद में पुलिस बल की तैनाती कर दीI बड़े अधिकारी मौके पर मौजूद रहेI प्रशासन और पुलिस की मुस्तैदी की वजह से दिल्ली-बदरपुर बॉर्डर फ्री नहीं हो पायाI भारी संख्या में पुलिस शुक्रवार सेकिसानों के ऐलान का पंजाब और हरियाणा में असर साफ देखा गयाI अंबाला के पास बने शंभु टोल प्लाजा को एहतियात के तौर पर अधिकारियों ने खुद ही टोल फ्री घोषित कर दिया थाI करनाल के बसताड़ा टोल प्लाजा पर भी ऐसा ही हाल रहाI रात के बारह बजते ही टोल प्लाजा के तमाम गेट खोल दिए गएI गाड़ियां बगैर टैक्स दिए फर्राटे से निकलती रहीं I

किसान अपनी मांगों को लेकर अपने रुख पर कायम हैंI वहीं सरकार कृषि कानूनों को क्रांतिकारी बताने की मुहिम में जुटी हैI FICCI के कार्यक्रम में पीएम मोदी ने एक बार फिर नए कृषि कानूनों को किसानों के किस्मत को बदलने वाला बतायाIपीएम ने कहा कि अब सभी अड़चनें हटाई जा रही हैंI इन रिफॉर्म के बाद किसानों को नए बाजार मिलेंगेI उन्हें टेक्नोलॉजी का लाभ मिलेगाI देश का कोल्ड स्टोरेज इंफ्रास्ट्रक्चर आधुनिक होगाI

पीएम ने कहा कि इन सबसे कृषि क्षेत्र में ज्यादा निवेश होगाI और इसका सबसे ज्यादा फायदा किसी को होने वाला है तो मेरे देश के किसान को होने वाला हैI जो छोटे-छोटे जमीन के टुकड़ों पर जिंदगी पालता है उस किसान का भला होने वाला हैI देश की अर्थव्यवस्था को अलग-अलग सेक्टर्स में दीवारें नहीं चाहिएI बीते वर्षों में इन दीवारों को तोड़ने के लिए रिफॉर्म किए गए हैं Iसरकार जिस कानून को किसानों के जीवन बदलने वाला बता रही है उसी कानून को किसान नेता अपने लिए अभिशाप से कम नहीं समझ रहे हैंI किसान नेता कमलप्रीत पन्नू ने कहा कि सरकार तीनों कृषि कानूनों को वापस लेI संशोधन मंजूर नहीं हैI हम सरकार से बातचीत से इनकार नहीं करते हैं,उन्होंने कहा कि अभी हमारा धरना दिल्ली के 4 प्वाइंट पर चल रहा हैI रविवार को राजस्थान बॉर्डर से हजारों किसान ट्रैक्टर मार्च निकालेंगे और दिल्ली-जयपुर हाइवे बंद करेंगेI 14 दिसंबर को सारे देश के डीसी ऑफिस में प्रोटेस्ट करेंगेI हमारे प्रतिनिधि 14 दिसंबर को सुबह 8 से 5 बजे तक अनशन पर बैठेंगेI

LEAVE A REPLY