(पंजाब दैनिक न्यूज़) दिल्ली-हरियाणा और दिल्ली-यूपी बॉर्डर पर जमा हुए किसानों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है, ऐसे में दिल्ली पुलिस पूरी तरह मुस्तैद है. दिल्ली आने वाले हर रास्ते में बड़ी संख्या में जवान तैनात हैं, वाहनों की चेकिंग की जा रही है और सख्ती बरती जा रही है. दिल्ली पुलिस ने किसानों के प्रदर्शन को देखते हुए कैसी तैयारी की है, ज़रा समझिए…

– किसानों के प्रदर्शन को देखते हुए दिल्ली की हर सीमा पर अधिकतम फोर्स तैनात की गई है.
– टिकरी बॉर्डर पर दिन में 3 डीसीपी और रात में दो डीसीपी की ड्यूटी है. यहां करीब दिल्ली पुलिस की नौ कंपनियों को लगाया गया है. बता दें कि एक कंपनी में 60 जवान होते हैं.
– सिंधु बॉर्डर पर भी कड़ी सुरक्षा है और दिन में 3 DCP के साथ ज्वाइंट कमिश्नर की भी ड्यूटी है. जबकि रात में 2 DCP ड्यूटी पर हैं और कुल 32 कंपनियों को सुरक्षा की जिम्मेदारी है.
– अगर बुराड़ी के निरंकारी ग्राउंड की बात करें, तो 2 ही डीसीपी दिन में और दो ही रात में तैनात हैं. इसके अलावा जरुरत के हिसाब से यहां कंपनियों को तैनात किया जा रहा है. बता दें कि सरकार ने किसानों को यहां पर प्रदर्शन करने को कहा है, ऐसे में अभी यहां थोड़ी ही संख्या में किसान मौजूद हैं.
– किसानों की बढ़ती संख्या को देखते हुए बुराड़ी-टिकरी और सिंधु बॉर्डर पर दिल्ली पुलिस के अलावा CISF, ITBP, CRPF की टुकड़ियां भी तैनात हैं.
– टिकरी बॉर्डर और सिंधु बॉर्डर पर लगातार IB (इंटेलिजेंस ब्यूरो) के डिप्टी डायरेक्टर लेवल के अधिकारी लगभग रोजाना विजिट कर रहे हैं. यहां IB अधिकारी दिल्ली पुलिस के अधिकारियों के साथ बॉर्डर पर ही मीटिंग कर हालात का जायजा लेते हैं और गृह मंत्रालय को रिपोर्ट दे रहे हैं.
– दिल्ली पुलिस की ओर से कुल चार बॉर्डर को सील कर दिया गया है, जिसमें सिंधु बॉर्डर, टिकरी, लामपुर और सफियाबाद सीमा शामिल हैं. सिर्फ सिंधु बॉर्डर पर ही 8-10 हजार जवानों को तैनात किया गया है. अलग-अलग सीमाओं पर जवानों की संख्या जरूरत के हिसाब से है, ड्रोन कैमरे से नजर भी रखी जा रही है.

गौरतलब है कि किसानों के प्रदर्शन के कारण दिल्ली आने वाले हर रास्ते पर जाम की स्थिति है. ऐसे में दिल्ली पुलिस, ट्रैफिक पुलिस लगातार वाहनों की जांच कर रही है. किसान किसी वाहन में सवार होकर ना आ जाएं, ऐसे में पुलिस सतर्कता बरत रही है.

LEAVE A REPLY