(पंजाब दैनिक न्यूज़) यदि आप अपनी डायट में यहां बताई गई चीजों का उपयोग करेंगे तो ठंड में रुखापन आपको इतना नहीं सताएगा कि बार-बार मॉइश्चराइजर लगाना पड़े…

इस समय गुलाबी सर्दियां चल रही हैं। यानी हल्की-हल्की ठंड। इस मौसम में आइसक्रीम भी अच्छी लगती है और गर्मागर्म सूप भी। हम आपको आइसक्रीम खाने के लिए तो नहीं कहेंगे क्योंकि सर्दी-जुकाम की चपेट में आने के लिहाज से यह मौसम बहुत अधिक संवेदनशील होता है। लेकिन यहां उन चीजों के बारे में आपको बताएंगे जिन्हें खाने से आपको अपने हाथों पर बार-बार मॉइश्चराइजर नहीं लगाना पड़ेगा और त्वचा पर ड्राईनेस की समस्या नहीं होगी।
बादाम- बादाम खाना ब्रेन के लिए लाभाकरी माना जाता है। क्योंकि मैग्नीशियम और प्रोटीन का अच्छा सोर्स होता है। लेकिन इसके साथ ही बादाम में विटमिन-ई बहुत अच्छी मात्रा में पाया जाता है। यह विटमिन आपके शरीर में प्राकृतिक नमी को ब्लॉक करके रखने में सहायता करता है। इसलिए बादाम खाने से शरीर में ड्राईनेस की समस्या नहीं होती है।
अखरोट- अखरोट में ओमेगा-3 फैटी एसिड प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। साथ ही अखरोट प्राकृतिक गुणों से भरपूर तैलीय पदार्थ से युक्त होता है। इस कारण इसके सेवन से हाथ-पैर और सिर में रुखेपन की समस्या बहुत कम होती है।
चिरौंजी-चिरौंजी भी एक सूखा मेवा है। आमतौर पर इसका उपयोग मिठाइयां बनाने में किया जाता है। खासतौर पर खीर, लड्डू और हलवा बनाने में। चिरौंजी का तेल त्वचा और बालों के लिए बहुत अधिक लाभाकरी होता है। यदि आप सूखे मेवे या स्नैक्स के रूप में चिरौंजी का सेवन करते हैं तो आपको रुखेपन की समस्या से नहीं जूझना पड़ता है।
मिल्क प्रॉडक्ट्स- दूध, दही, मक्खन, पनीर, टोफू, छाछ इत्यादि प्रॉडक्ट्स आपकी त्वचा को अंदर से नरिश करने का काम करते हैं। यानी ये आपकी त्वचा की अंदरूनी कोशिकाओं को पोषण देते हैं और उनमें नमी को बनाए रखते हैं। इससे आपकी त्वचा की बाहरी सतह पर रुखापन नहीं आता है।                  शकरकंद-  शकरकंद यानी स्वीट पोटैटो प्राकृतिक मिठास से भरपूर होने के साथ ही फाइबर रिच फूड होता है।शकरकंद में आयरन और विटमिन-बी6 अच्छी मात्रा में पाया जाता है। ये दोनों ही तत्व आपके शरीर की कोशिकाओं की रिपेयरिंग में सहायता करते हैं। साथ ही उन्हें आंतरिक पोषण प्रदान करते हैं।

LEAVE A REPLY