(पंजाब दैनिक न्यूज़) गणपति को सभी देवों में प्रथम पूजनीय कहा गया है I भगवान गणपति का जन्म भाद्रपद शुक्ल चतुर्थी के दिन हुआ था I इसलिए इस दिन को गणेश चतुर्थी के रूप में मनाया जाता है I इस बार गणेश चतुर्थी की तिथि 21 अगस्त को रात 11:02 बजे से शुरू होकर 22 अगस्त को शाम 07:57 बजे तक रहेगी I इसलिए गणेश चतुर्थी का त्योहार 22 अगस्त को शनिवार के दिन मनाया जाएगा I गणेश चतुर्थी को बहुत पवित्र और फलदायी त्योहार माना जाता है I 22 अगस्त को पूरे देश में गणपति उत्सव शुरू हो जाएगा जो लगभग दस दिनों तक चलेगा I इसके बाद अनंत चतुर्दशी के दिन गणपति का विसर्जन किया जाएगा है I इस बार गणेश चतुर्थी के दिन एक खास संयोग बन रहा है I जिससे इस दिन का महत्व और बढ़ गया है I  N K Rana (MA) Professional Astrologer से जानते हैं कि गणेश चतुर्थी पर बन रहे इस महासंयोग के बारे में I इस बार गणेश चतुर्थी के दिन हस्त नक्षत्र का योग बन रहा है I इस नक्षत्र का स्वामी चंद्रमा है I इस योग के दौरान पृथ्वी तत्व की राशि यानी कन्या राशि रहेगी I माना जा रहा है कि इस अद्भुत संयोग और गणपति की कृपा से पृथ्वी पर चल रहे सभी संकट खत्म हो जाएंगे I महाराष्ट्र में यह पर्व गणेशोत्सव के तौर पर मनाया जाता है I दस दिनों तक गणेश जी को भव्य रूप से सजाकर उनकी पूजा की जाती है I
गणपति जी की पूजा बेहद सरल मानी जाती है I इस दिन मिट्टी के गणपति विराजमान किए जाते हैं I इसके पीछे मान्यता है कि हमारा शरीर पंचतत्व से बना है और पंचतत्व में ही विलीन हो जाता है I इसलिए दस दिनों तक गणपति की पूजा करने के बाद उन्हें जल में विसर्जित कर दिया जाता है I गणपति जी की पूजा बेहद सरल मानी जाती है I इस दिन मिट्टी के गणपति विराजमान किए जाते हैं I इसके पीछे मान्यता है कि हमारा शरीर पंचतत्व से बना है और पंचतत्व में ही विलीन हो जाता है I इसलिए दस दिनों तक गणपति की पूजा करने के बाद उन्हें जल में विसर्जित कर दिया जाता है I गणपति जी की पूजा बेहद सरल मानी जाती है I इस दिन मिट्टी के गणपति विराजमान किए जाते हैं I इसके पीछे मान्यता है कि हमारा शरीर पंचतत्व से बना है और पंचतत्व में ही विलीन हो जाता है I इसलिए दस दिनों तक गणपति की पूजा करने के बाद उन्हें जल में विसर्जित कर दिया जाता है I मिट्टी के गणपति में हरे, लाल और पीले रंग का इस्तेमाल जरूर होना चाहिए क्योंकि इन रंगों को शुभता का प्रतीक माना जाता है I इन रंगों के प्रयोग से जीवन में खुशहाली आती है
इस दिन गणपति को मोदक जरूर अर्पित करें I जितनी आपकी उम्र है I उतने मोदक आप गणेश जी को अर्पित करें और उसके बाद अपनी मनोकामना याद करते हुए मोदक को गरीबों में बांट दें I इससे आपकी मनोकामना पूरी हो जाएगी I इस दिन गणेश जी को दूर्वा जरूर अर्पित करें I गणेश जी बुद्धि के देवता माने जाते हैं I इस दिन छात्रों को पारदर्शी कलम गणेश दी को चढ़ानी चाहिए I इससे आपके तरक्की के रास्ते खुल जाएंगेअगर आपको नौकरी से जुड़ी कोई दिक्कत आ रही है तो गणेश चतुर्थी पर गणेश स्तुति जरूर करें I इससे आपके काम में किसी तरह की रूकावट नहीं आएगी I

LEAVE A REPLY