जालंधर  ( मुनीश तोखी  ) कोविड-19 के वायरस की महामारी ने महानगर की प्रमुख नई सब्जी मंडी में दस्तक देते हुए एक आड़ती सुरजीत सिंह गोल्डी की जिंदगी लील ली है व पांच आड़ती विभिन्न अस्पतालों मे इलाज अधीन है। कोरोना वायरस की महामारी की चर्चा होने के बाद मार्च माह में सरकार द्वारा लाॅकडाऊन कर दिया गया लेकिन महानगर की प्रमुख सब्जी मंडी के कारोबारी अपनी जान की परवाह न करते हुए देशहित में कारोबार पर डटे रहे जिससे किसी को भी सब्जी के लिए मगजमारी नही करनी पड़ी। सभी कारोबार बंद होने के कारण सभी वर्ग के कारोबारी सब्जी कारोबार में उतर आए व परिवार का पेट पालते रहे। इस दौरान जिला प्रशासन ने भी अहम भूमिका निभाते हुए मंडी को पुलिस छावनी मे तबदील किया व मंडी मे ऑडर ऑड-ईवन प्रक्रिया चलाते हुए मंडी की भीड़ को कंट्रोल किया व मंडी में आने वालों की थर्मो स्कैनिगं करबाई गई व मंडी में रिटेल फड़ीयो को बंद करवा कर मंडी में होलसेल कारोबार को बढ़ावा दिया।

इस सब प्रक्रिया के बावजूद अब जब महानगर में कोरोना मरीजों की संख्या दिन प्रतिदिन बढ़ रही है तो जिला प्रशासन ने मंडी से अपना ध्यान पूरी तरह हटा लिया है जिसके कारण मकसूदां मंडी में आड़ती समुह की सहमति से हजार से भी ज्यादा रिटेल फड़ीयां लगनी शुरू हो चुकी है व मंडी में जगह जगह समोसे-कुलचे-नान-भटूरे सहित कोल्ड ड्रिंक स्टालों की गिनती भी इतनी बढ़ चुकी है कि मार्किट कमेटी भी उस पर ध्यान केंद्रित नही कर पा रही व सभी वैंडर सरेआम विन मास्क विन ग्लव्ज लोगों को बीमारीयां परोस रहे दीखाई देते है। मंडी की एंट्री पर भी जिला प्रशासन द्वारा थर्मोस्कैनिंग बंद कर दी गई है व मंडी में रोजाना 15-20 हजार लोगो का मेला सुबह पौ फटते ही देखने को मिलता है। कोरोना की मंडी मे दस्तक के कारण अब सभी कारोबारीयों मे दहशत फैल रही है व युवा आड़तीयों ने बुजुर्ग आड़तीयों को मंडी में आने से मना कर दिया है। जिला प्रशासन व मार्किट कमेटी को चाहिए कि वह मंडी को पूरी तरह सैनीटाईज करबाए व मंडी मे बढ़ रही भीड़ को नियंत्रण करे व थर्मोस्कैनिंग का प्रबंध करे जिससे मंडी मे बाहरी राज्यो से आने वाले व्यापारियों व ट्रक चालकों की पूरी मैडीकल जांच करबाई जाए।
इसके अतिरिक्त महानगर भर में सब्जी के रिटेल कारोबार करने वाले 4-5 हजार रिक्शा रेहड़ी चालकों व विभिन्न क्षेत्रों में सब्जी की दुकानें चलाने वाले रिटेलरो की भी मैडिकल जांच को यकीनी बनाया जाए जिससे शहर वासीयों की सुरक्षा कायम रह सके।

LEAVE A REPLY