(पंजाब दैनिक न्यूज़) पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कल ही घोषणा कर दी थी की सोमवार से पंजाब में शक्ति कर दी जाएगी उसी के अंतर्गत पंजाब सरकार ने सभी सार्वजनिक समारोहों पर पूरी तरह से रोक लगा दी है, जबकि सामाजिक समारोहों को पांच और विवाह अन्य सामाजिक कार्यों को वर्तमान 50 के बजाय 30 तक सीमित कर दिया है। कैप्टन सरकार ने सोमवार को इस संबंधी गाइडलाइंस जारी की हैं।
सरकार द्वारा जारी अधिसूचना में कहा गया है कि पुलिस और प्रशासन की संयुक्त टीमें सामाजिक समारोहों (सभी जिलों में धारा 144 के तहत 5 तक सीमित) और साथ ही शादियों और सामाजिक कार्यों पर प्रतिबंधों को सख्ती से लागू करेंगी। विवाह स्थलों / होटलों के प्रबंधन को जिम्मेदार ठहराया जाएगा और मानदंडों के उल्लंघन के मामले में लाइसेंस कैंसिल कर दिया जाएगा। इसके अलावा, विवाह स्थलों / होटलों/अन्य वाणिज्यिक स्थानों के प्रबंधन को यह प्रमाणित करना होगा कि इनडोर रिक्त स्थान के वेंटिलेशन के लिए पर्याप्त व्यवस्था की गई है।

राज्य सरकार ने आईआईटी चेन्नई के विशेषज्ञों के साथ भी निगरानी तेज करने के लिए साझेदारी की है, ताकि भविष्य में कार्रवाई के लिए सुपर-स्प्रेडर सभाओं की पहचान करने के लिए प्रौद्योगिकी का उपयोग किया जा सके। नए दिशानिर्देशों के अनुसार, कार्य स्थानों / कार्यालयों / बंद स्थानों में मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया गया है, साथ ही एयर कंडीशनिंग और वेंटिलेशन / एयर सर्कुलेशन पर स्वास्थ्य विभाग के सलाहकार के सख्त प्रवर्तन का निर्देश देता है। आने वाले दिनों में देखना होगा लोग करुणा महामारी से बचने के लिए नियमों का कितना पालन करते हैं I

LEAVE A REPLY