जालंधर (मुनीश तोखी) जनतक हित को ध्यान में रखते हुए जिला प्रशासन जिले में लाकडाऊन को शाम 7 से प्रातःकाल 7बजे तक लोगों को कोविड -19 से बचाने के लिए सख्ती से लागू करेगा।
यह फ़ैसला जालंधर से लोक सभा मैंबर चौधरी संतोख सिंह, विधायक स.परगट सिंह, सुशील कुमार रिंकू, राजिन्दर बेरी, हरदेव सिंह लाडी शेरोवालिया और अवतार सिंह बावा हेनरी, चेयरमैन पंजाब स्टेट तकनीकी शिक्षा बोर्ड महेंद्र सिंह के.पी., चेयरमैन पंजाब राज जल स्रोत प्रबंधन निगम स.जगबीर सिंह बराड़, डिप्टी कमिशनर जालंधर वरिन्दर कुमार शर्मा, पुलिस कमिशनर  गुरप्रीत सिंह भुल्लर और एस.एस.पी. नवजोत सिंह माहल की तरफ से मीटिंग दौरान लिया गया।
मीटिंग दौरान यह फ़ैसला लिया गया कि दुकानें जिले में प्रातःकाल 7 से शाम 6बजे तक खुलेगी। जबकि लाकडाऊन को शाम 7 बजे से प्रातःकाल 7बजे तक सख़्ती के साथ लागू किया जायेगा। लोक सभा मैंबर, विधायकों और चेअरमैनों ने डिप्टी कमिशनर, पुलिस कमिशनर और एस.एस.पी.ने कहा कि जिले में लाकडाऊन को सख़्ती के साथ लागू किया जाये। उन्होनें कहा कि कोरोना वायरस का ख़तरा अभी पूरी तरह खत्म नहीं हुआ, इस लिए लोगों की जान बचाने के लिए अधिक से अधिक सावधानिया अपनाई जाए। उन्होनें कहा कि लोगों को सामाजिक दूरी की पालना करने के लिए उत्साहित करना चाहिए जिससे कोरोना वायरस को फैलने से रोका जा सके।
इस अवसर पर डिप्टी कमिशनर, पुलिस कमिशनर और एस.एस.पी.ने सांसद मैंबर, विधायकों और चेअरमैनों को बताया कि जिला प्रशासन इस प्रति पहले ही संवेदनशील है और शहर में बिना कारण इधर उधर घूमने वालों ख़िलाफ़ शख्त कार्यवाही की जा रही है। उन्होनें नेताओं को बताया कि जिला प्रशासन की तरफ से मास्क न पहनने पर नियमों का उल्लंघन करने वालों के ख़िलाफ़ कार्यवाही की जा रही है। उन्होनें कहा कि रविवार को छोडकर जिले में प्रातःकाल 7 बजे से शाम 6 बजे तक दुकानों खोलने पर कोई पाबंदी नहीं है। उन्होनें कहा कि मुख्यमंत्री पंजाब कैप्टन अमरिन्दर सिंह की हिदायतों पर जिला प्रशासन जहाँ लोगों की कीमती जानें बचाने के लिए वचनबद्ध है साथ ही लाकडाऊन दौरान आर्थिक गतिविधियों को बढावा देने के लिए भी वचनबद्ध है।
बैठक में अतिरिक्त डिप्टी कमिशनर जसबीर सिंह, डिप्टी कमिशनर पुलिस श्री बलकार सिंह, उप मंडल मैजिस्ट्रेट श्री अमित कुमार,  राहुल सिधू,  संजीव शर्मा,  जेइन्द्र सिंह, और श्री विनीत कुमार, सहायक कमिशनर हरप्रीत सिंह, ऐपीडीमोलोजिस्ट डा.सतीश, जिला ख़ुराक और स्पलाई कंट्रोलर  नरिन्दर सिंह और अन्य भी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY