जालंधर (मुनीश तोखी ) मुस्लिम समाज के अख्तर सलमानी ने कहा की लोक डाउन के चलते 2 महीने से ज्यादा टाइम से मुस्लिम समाज लॉक डाउन का पूरी तरीके से पालन कर अपने-अपने घरों में नमाज अदा कर रहा है I पवित्र रमजान का महीना खत्म होने को है I ईद की नमाज ईदगाह व मस्जिद मे अदा करने की प्रशासन से इजाजत के लिए मुस्लिम समाज ने आवाज उठाई और मांग की ईद का त्यौहार मुस्लिम समाज का सबसे बड़ा त्यौहार है I जिसमें सभी लोग शहरी व देहाती इलाकों में ईदगाह में जाकर ईद की नमाज अदा करते हैं I इसी मांग को लेकर अख्तर सलमानी ने मुस्लिम समाज के आजम खान जमशेर ,मुस्ताक अहमद को साथ लेकर एडीसीपी सिटी टू परमिंदर सिंह भंडाल के साथ मीटिंग की और अपनी मांग को दोहराई, एडीसीपी परमिंदर सिंह भंडाल ने मुस्लिम समाज को ईद की मुबारकबाद देते हुए कहा की कोरोना महामारी के चलते सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखते हुए लोक डाउन के दौरान किसी भी धर्म को सामूहिक इबादत की इजाजत नहीं दी गई I इसी कारण प्रशासन द्वारा सामूहिक तौर से ईदगाह में ईद की नमाज अदा करने लिए ज्यादा इकठ से सोशल डिस्टेंसिंग नहीं बन पाने के कारण इजाजत नहीं मिल सकी Iईदगाह व मस्जिद में इमाम मुक्तदि और मस्जिद कमेटी की 2 या 3 मेंबर ही नमाज अदा कर सकेंगे I इसलिए मुस्लिम समाज से ईद की नमाज अपने-अपने घरों में अदा करने की अपील की अख्तर सलमानी ने कहा कि मुफ्ती ए आजम पंजाब मोहतरम जनाब मुफ्ती इरतिका उल हसन साहब,और शाही इमाम पंजाब हजरत मौलाना हबीबुर्रहमान साहब लुधियानवी दोनों धार्मिक विद्वानों ने भी कल के बयान में कहा कि मुस्लिम समाज के लिए ईद का त्यौहार बहुत मायने रखता है लेकिन इस वक्त प्रशासन के द्वारा कोरोना महामारी के कारण किसी भी धर्म के लोगों को सामाजिक दूरी और सुरक्षा को मद्देनजर रखते हुए सामूहिक इबादत की इजाजत नहीं दी गई है I एडीसीपी सिटी 2 और मुस्लिम समाज को अपने घरों में ही ईद की नमाज अदा करने और प्रशासन के साथ मुकम्मल सहयोग करने की अपील की और कहा की इस कोरोना महामारी से निजात पाने के लिए पूरी कायनात के लिए दुआ की जाए और सादगी के साथ ईद मनाए I

LEAVE A REPLY