जालन्धर (मुनीश तोखी ) डिप्टी कमिश्नर जालंधर  वरिंदर कुमार शर्मा और एस.एस.पी. नवजोत सिंह माहल ने बताया कि जिले में गेहूँ की चल रही निर्विघ्न खरीद प्रक्रिया के दौरान अब तक जिले की मंडियों में 134250 मीट्रिक टन गेहूँ की खरीद की जा चुकी है।जिले की पतारा अनाज मंडी में गेहूँ की खरीद प्रक्रिया और उठवाई का जायजा लेने के लिए मीटिंग की अध्यक्षता करते हुए उन्होने कहा कि जिले में कोरोना वायरस के कारण पैदा हुई स्थिति के दौरान गेहूँ की खरीद प्रक्रिया चल रही है। उन्होने कहा कि कोविड -19 के मद्देनजर पंजाब सरकार की तरफ से किसानों को हर तरह की सुविधा मुहैया करवाने की वचनबद्धता के अंतर्गत जिला प्रशासन किसानों की जिंस का एक -एक दाना समय पर खरीद करके उठाने और अदायगी के लिए पाबंद है। उन्होने कहा कि किसानों की गेहूँ की खरीद, उठवाई और अदायगी में आधिकारियों के पक्ष से हुई किसी भी लापरवाही को सहन नहीं किया जायेगा। उन्होने कहा कि समुच्चय खरीद प्रक्रिया के दौरान बिना वजह देरी होने पर स2ती के साथ निपटा जायेगा। उन्होने कहा कि हाडी सीजन के दौरान जिला प्रशासन की तरफ से अब तक जिले की अलग-अलग मंडियों में 134250 मीट्रिक टन गेहूँ की खरीद की जा चुकी है। उन्होने कहा कि 24 अप्रैल तक 134250 मीट्रिक टन खरीद की गई गेहूँ में से 82315 मीट्रिक टन गेहूँ की उठवाई करने के इलावा 58 करोड की अदायगी किसानों को की जा चुकी है। उन्होने आधिकारियों को निर्देश दिये कि किसानों की फसल का एक -एक दाना समय पर खरीद करके उठवाई को बिना किसी देरी के विश्वसनीय बनाया जाये। उन्होंने यह भी कहा कि कोविड -19 महामारी से बचने के लिए सभी मंडियों में सामाजिक दूरी को जरूर बरकरार रखा जाये। उन्होंने यह भी कहा कि आधिकारियों को कोरोना वायरस महामारी के मद्देनजर  जिले की सभी अनाज मंडियों में किसानों और मजदूरों के इलावा अन्य के लिए हाथ धोने, साबुन, मास्क आदि के प्रबंधों को विश्वसनीय बनाना चाहिए।

LEAVE A REPLY