जालन्धर (मुनीश तोखी ) जालंधर जिले में कोरोना वायरस के कारण पैदा हुई स्थिति के मद्देनजर 15 अप्रैल से शुरू हो रही गेहूँ की खरीद के दौरान मंडियों में किसानों के दरमियान सामाजिक दूरी को बनाये रखने के लिए जिला प्रशासन ने मंडियों में निशान लगाने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। इससे संबंधित जानकारी देते हुए डिप्टी कमिश्नर जालंधर वरिन्दर कुमार शर्मा ने बताया कि जिले में कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए जिला प्रशासन की तरफ से मंडियों में निशान लगाने की प्रक्रिया को शुरू किया जा चुका है I जिससे किसान मंडियों में एक स्थान एकत्रीत ना हो सकें। उन्होने कहा कि यह समय की जरूरत है कि गेहूँ की सुचारू खरीद को विश्वसनीय बनाने के साथ-साथ मंडियों में सामाजिक दूरी को बरकरार रखा जाये। उन्होने कहा कि किसानों की फसल का एक-एक दाना जिला प्रशासन द्वारा सुचारू ढंग से खरीदा जायेगा।
डिप्टी कमिश्नर ने कहा कि कैप्टन अमरिन्दर सिंह मुख्यमंत्री पंजाब के नेतृत्व वाली राज्य सरकार ने कोरोना वायरस के मद्देनजर किसानों की तरफ से मंडियों में गेहूँ लाने की देरी को देखते हुए पहले ही गेहूँ की खरीद प्रक्रिया को 15 जून तक करने का फैसला लिया जा चुका है। उन्होने यह भी कहा कि राज्य सरकार की तरफ केंद्र सरकार से किसानों के लिए विशेष लाभ देने की भी माँग की गई है। उन्होने कहा कि सभी मंडियों में सैनीटाईजर और हाथ धोने के पुख्ता प्रबंध करने के अतिरिक्त किसानों और सरकारी कर्मचारियों को नियमों की सख्ती से पालना करने के लिए पाबंद होंगे। उन्होने बताया कि इस के अतिरिक्त मंडियों में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम करने के लिए पहले ही व्यापक रणनीति बनाई जा चुकी है। उन्होने बताया कि खरीद प्रक्रिया के दौरान मार्केट समितियाँ द्वारा आडतियों को विशेष कूपन दिए जाएंगे जो वह आगे से किसानों को देंगे।
डिप्टी कमिश्नर ने कहा कि किसाना को हर रोज या अन्य दिनों के दौरान मंडियों में खाली स्थानों को देखते हुए कूपन दिए जाएंगे जिससे मंडियों में भीड एकत्रीत ना हो सके। उन्होने कहा कि किसान हर कूपन से 50 क्विंटल की एक ट्राली ला सकेंगे। श्री शर्मा ने इस मुश्किल घडी में किसानों की सोने रंगी फसल का एक एक दाना खरीद करने के लिए जिला प्रशासन की वचनबद्धता को दोहराया हैं।

LEAVE A REPLY