जालन्धर( मुनीश तोखी )  जिला जालंधर के लिए यह सब से बडी राहत वाली बात है कि कोरोना वायरस से पीडित 6 व्यक्तियों में से तीन व्यक्तियों का इलाज के बाद रिपोर्ट नैगेटिव पाई गई जिनको सिविल अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। तीन व्यक्ति जिन में हरजिन्दर सिंह, बलजिन्दर कौर और हरदीप सिंह गाँव विरक के निवासी थे और यह तीनों बलदेव सिंह जिसकी कोरोना वायरस के कारण मृत्यू हो गई थी के साथ संपर्क में थे। इन सभी मरीजों को 20 मार्च को सिविल अस्पताल फिल्लौर में कोरोना वायरस के लक्षण पाये जाने पर दाखिल करवाया गया था जिनको बाद में 24 मार्च को सिविल अस्पताल जालंधर में तबदील किया गया जहाँ उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई। सीनियर मैडीकल अधिकारी डा.कश्मीरी लाल के नेतृत्व वाली मैडीकल टीम द्वारा सिविल अस्पताल में 14 दिनों तक इलाज किया गया। सिविल अस्पताल में इन व्यक्तियों का इलाज के उपरांत दोबारा सैंपल जांच के लिए सरकारी मैडीकल कालेज अंमृतसर में 6 अप्रैल को भेजे गये थे जिनकी रिपोर्ट नेगेटिव पाई गई। इस तरह 7 अप्रैल को एक व्यक्ति का सैंपल दोबारा जांच के लिए भेजा गया था और रिपोर्ट नैगेटिव आने पर इन तीनों को सिविल अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। इन मरीजों द्वारा सिविल अस्पताल में दी गई इलाज की सुविधा पर संतुष्टि को प्रगट किया गया। उन्होने सभी मैडीकल और पैरा मैडीकल अमलो का धन्यवाद किया जिनकी तरफ से उनकी बहुत बढिया ढंग से देखभाल की गई। इस अवसर पर इन मरीजों द्वारा कैप्टन अमरिन्दर सिंह मुख्य मंत्री पंजाब के नेतृत्व वाली राज्य सरकार का भी इस मुश्किल घडी में पुख्ता प्रबंध करने के लिए तह दिल से धन्यवाद किया गया। इस अवसर पर सिविल सर्जन डा.गुरिन्दर कौर चावला और मैडीकल सुपरडंट डा.मनदीप कौर मांगट ने इन मरीजों के उच्च ईलाज को विश्वसनीय बनाने के लिए डॉक्टर और पैरा मैडीकल स्टाफ को बधाई देते कहा कि महामारी के विरुद्ध चल रही इस लडाई के दौरान लोगों को बचाने के लिए यह मानवता की सब से बडी सेवा है। उन्होनें कहा कि डा1टरी अमलो की लगन और पंजाब और खास कर जालंधर निवासियों की मजबूत इच्छा शक्ति से इस महामारी के विरुद्ध लडाई जीत ली जायेगी। उन्होने कहा कि कैप्टन अमरिन्दर सिंह मुख्य मंत्री पंजाब के नेतृत्व वाली राज्य सरकार पंजाब निवासियों को महामारी से बचाने के लिए वचनबद्ध है।
उन्होने कहा कि सिविल अस्पताल डा.मनदीप कौर ने कहा कि उनके लिए यह बडे गर्व और संतुष्टि वाली बात है कि यह मरीज जल्दी ठीक हो गए हैं। उन्होने कहा कि अब तीन मरीज जिन में एक मरीज जो इलाज के लिए आज ही सिविल अस्पताल में दाखिल हुआ है का इलाज चल रहा है। उन्होने कहा कि डॉक्टर और पैरा मैडीकल स्टाफ द्वारा इस मुश्किल घडी के दौरान अपनी ड्यूटी पूरी लगन और मेहनत से निभाई जा रही है।

LEAVE A REPLY