जालन्धर (मुनीश तोखी) जिला में कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए लगाए गए कर्फ़्यू दौरान पशूओं को हरा और सुखा चारा उपलब्ध करवाने के कड़े प्रबंध किये गए हैं।
इस से संबधित जानकारी देते हुए डिप्टी डायरैक्टर पशु पालन डा.महिन्दरपाल सिंह ने बताया कि जिले में हरे और सूखे चारों की कोई कमी नहीं है और पशु पालन विभाग द्वारा पशूओं को चारा उपलब्ध करवाने को विश्वसनीय बनाया गया है। उन्होने कहा कि तहसील स्तर पर सख्ती प्रक्रिया की निगरानी के लिए अधिकारी नामंकित किये गए हैं। उन्होने कहा कि तहसील -1 और तहसील -2 सीनियर वैटनरी अधिकारी डा.बी.ऐस.घुंमन, नकोदर और शाहकोट तहसील सीनियर वैटनरी अधिकारी डा.गुरदीप सिंह, और फिल्लौर तहसील की कार्यकारी सीनियर वैटनरी अधिकारी डा. प्रदीप कुमार की ओर से निगरानी की जा रही है। उन्होंने बताया कि पशूओं के लिए चारों की उपलबद्धता के लिए कोई कमी नहीं छोडी जायेगी Iडा.महिन्दरपाल जिन की तरफ से गौशाला देवी तालाब मंदिर टांडा रोड और बुलन्दपुर का दौरा करते हुए कहा कि यहाँ पशूओं के लिए जरूरत अनुसार चारा उपलब्ध है। उन्होने कहा कि जिले में पशूओं के लिए हरे और सूखे चारों के कड़े प्रबंधों को विश्वसनीय बनाया जा रहा है।

LEAVE A REPLY