नकोदर (मुनीश तोखी ) डी.ए.वी. संस्थाओं द्वारा मानवता व देश के लिए समय-समय पर जो सेवा की गई है, उसका एक अपना एतिहास है । डी. ए. वी परिवार ने 1886 से हमेशा राष्ट्रीय अथवा स्थानिय स्तर की आफत का सामना करने के लिए बढ- चढ कर सहयोग दिया है। यह विचार डी.ए.वी. कालेज मैनेजमैंट कमेटी के प्रधान पदमश्री पूनम सूरी ने कोविड-19 के विरूध प्रधान मंत्री राहत फंड के लिए 5 करोड़ रूपये जारी करने के मौके व्यक्त किए उन्होंने कहा कि कोरोना वायर्स की इस जंग में राष्ट्र को विजयी बनाने के लिए आज भी डी.ए.वी. व आर्य समाज अपनी अहिम भूमिका निभा रहे हैं । आज के समय में 919 डी. ए.वी.
यूनिवसिटी) के स्टाफ द्वारा एक दिन का वेतन व कईओं नेशैक्षणिक संस्थाएं स्कूल, कालेज,इस से भी अधिक बढ-चढ कर योगदान राष्ट्र को समर्पित किया है । इसी के अंतर्गत देश भर में डी.ए.वी. संस्थाओं द्वारा कोरोना वायर्स से पीड़ित मरीजों के लिए डी. ए. वी. स्कूलों व कालेजों को प्रयोग में लाने के मकसद से स्थानिय प्रशासन को सहयोग करने के लिए खोल दिया गया है। प्रधान सूरी ने कहा कि डी.ए. वी. संस्थाओं व आर्य प्रदेशिक प्रतिनिधि सभा कोरोना वायर्स की रोकथाम व सरकार द्वारा प्रारंभ प्राजैक्टों में सहायता देने के लिए पूरी तरह वचनबध है। इस संबंध में डी.ए. वी. कालेज नकोदर के प्रिंसीपल डा. अनूप कुमार ने प्रधान पूनम सूरी का धन्यवाद किया और कालेज द्वारा डी. ए. वी. मैनेजमैंट के प्रयत्नों की प्रशंसा करते कहा कि इस कालेज द्वारा आगे से भी पूरा सहयोग किया जाएगा और प्रशासन को पूरी सहायता व समाज में इस अंतराष्ट्रीय विश्व व्यापी बिमारी के बारे में लोगों को जागरूक करने में हिस्सा डालते रहेंगे।

LEAVE A REPLY