करतारपुर (मुनीश तोखी ) मुस्लिम भाईचारे ने जुम्मा की नमाज अपने अपने घरों में अदा कर कोरोना वायरस के प्रकोप से बचने के लिए पूरी कायनात और तमाम इंसानियत के लिए खुदा से दुआएं मांगी मुस्लिम भाईचारे के अख्तर सलमानी ने बताया कि जुम्मा की नमाज के बाद अपने देश में कोरना से बचने और मुल्क से उसे भगाने के लिए के लिए चल रहे लॉक डाउन का पालन कर मस्जिदों के बजाय घर में नमाज अदा की मस्जिद में शुक्रवार के दिन सैकड़ों लोग सामूहिक रूप से नमाज अदा करते हैं लेकिन इस संकट की घड़ी में तमाम मुस्लिम विद्वानों और सामाजिक व सियासी रहनुमाओं की अपील पर कोरोना के खिलाफ इस सामूहिक लड़ाई में भीड़ से बचने के लिए एहतियाती कदम उठाते हुए पूरी तरह से प्रशासन का साथ दिया मस्जिदों में इमाम के साथ सिर्फ अजान देने वाले और दो कमेटी मेंबर ने नमाज़ जुमा अदा की अख्तर सलमानी ने कहा कि कोरोना के खिलाफ इस सामूहिक लड़ाई में सभी देशवासी धैर्य व एकजुटता से एक साथ खड़े हैं

और अफगानिस्तान में गुरुद्वारा साहिब में हुए आतंकी हमले की कड़ी निंदा की ऐसी दरिंदगी और वहशीपन करने वालों का कोई धर्म नहीं होता ऐसे लोगों को सिर्फ दरिंदे कहा जाता है Iहाफिज सुलेमान हाशिम अल्वी और अख्तर सलमानी ने पूरी कायनात और देश व देशवासियों के लिए दुआएं की I

LEAVE A REPLY