छिन्नमस्तिका धाम हिमाचल प्रदेश मंदिर के कपाट मंगलवार से रहेंगे बन्द,श्रदालुओं को नहीं होंगे माता रानी के दर्शन,कोरोना वायरस के चलते सरकार ने जारी किए आदेश I विश्वविख्यात शक्तिपीठ चिंतपूर्णी में मंगलवार को मन्दिर के कपाट बंद रहेंगे और मां के दरबार आने वाले श्रदालु माता रानी के दर्शन नहीं कर सकेंगे।हिमाचल सरकार ने इसको लेकर आदेश जारी कर दिए हैं । डी सी ऊना संदीप कुमार ने इसकी पुष्टि कर दी है।मंगलवार से श्रदालुओं की मन्दिर जाने की एंट्री पर पाबंदी लगा दी गई है। हिमाचल पुलिस द्वारा टोल प्लाजा के पास एक विशेष नाका लगाकर लोगों को रास्ते में ही रोक कर उन्हें वापस जाने की सलाह दी जा रही है।कोरोना वायरस के चलते हिमाचल सरकार को ये कदम उठाना पड़ा ।डी सी ऊना संदीप कुमार ने बताया कि सोमवार रात को ठहरे हुए श्रदालुओं को मंगलवार सुबह नौ दस बजे तक मन्दिर दर्शन करवाने की व्यवस्था की जाएगी उसके बाद मन्दिर के कपाट बंद कर दिए जाएंगे।सिर्फ मन्दिर पुजारियों को जाने की अनुमति होगी इसके साथ मन्दिर पुजारीयों की तरफ से रोजाना की तरह मन्दिर में आरती भोग सभी कार्य रूटीन में किए जाएंगे लेकिन मन्दिर में माता रानी के दर्शनों के श्रदालुओं के आने पर पूर्ण पाबंदी रहेगी।वंही मन्दिर प्रशासन ने बताया कि श्रदालुओं को वेबसाइट व मोबाइल पर माता रानी की पिंडी के लाइव दर्शन करवाने की सुविधा उपलब्ध करवाएगी।बताते चले की चिंतपूर्णी में 25 से नवरात्रे शुरू हो रहे हैं और नवरात्रों के दौरान भारी संख्या में पंजाब हिमाचल व विदेशो से श्रदालु यंहा पहुंचते हैं I  जिस कारण कोई श्रदालु कोरोना वायरस से संक्रमित न हो जिस कारण सरकार ने ये आदेश जारी किए हैं बताते चले इससे पहले पिछले कल डी सी ऊना ने चिंतपूर्णी में सभी सरायों व लंगरों को बंद करने के आदेश जारी किए थे।उधर पुजारी बारीदार सभा के प्रधान रविन्द्र छिंदा ने इस बारे कहा कि सरकार ने जो आदेश दिए हैं उनका पालन किया जाएगा।उधर डी सी ऊना संदीप कुमार ने कहा कि चिंतपूर्णी मन्दिर को बंद करने के आदेश जारी किए गए हैं।कोरोना वायरस के चलते ऐसा निर्णय लिया गया है।आगामी आदेशों तक चिंतपूर्णी मन्दिर में श्रदालुओं की एंट्री पर पूर्ण प्रतिबंध रहेगा।

LEAVE A REPLY