जालंधर (मुनीश तोखी) शाहीन बाग दिल्ली में एनआरसी और सी ए ए जैसे काले कानून से संविधान और देश में आपसी एकता और भाईचारे को बचाने के लिए हक की आवाज उठाने वाली माताओं और बहनों की कुर्बानियों को सलाम जालंधर से गत दिनों एक काफिला मशहूर सहाफी मजहर आलम की अध्यक्षता में शाहीन बाग में देश की जनता के लिए केंद्र सरकार से अपने हक की मांग कर रही महिलाओं की हौसला अफजाई के लिए पहुंचा I iजिसमें ऑल इंडिया जमात ए सलमानी बिरादरी के पंजाब चेयरमैन अख्तर सलमानी, राष्ट्रीय महासचिव आकिब जावेद, सलमानी शमशाद अहमद ठेकेदार पंजाब प्रधान अयूब सलमानी,  जनरल सेक्रेटरी इमरान मेहताब सलमानी मीनाज ठेकेदार शाहिद हसन ठेकेदार जब्बार खान नदीम अहमद शहजाद अहमद अली हुसैन सहित मसूद अहमद लियाकत अली के साथ सभी ने समूचे देश में अपने हक के लिए शांतिपूर्वक धरना प्रदर्शन कर रही मां और बहनों के जज्बे को सलाम किया और जत्थे में से कई प्रवक्ताओं ने संबोधित किया Iऑल इंडिया जमात ए सलमानी बिरादरी के पंजाब चेयरमैन अख्तर सलमानी ने शाइन बाग स्टेज से अपने संबोधन में कहां की धर्म के नाम पर लोगों को बांटने वाले काले कानून के जरिए नफरत की राजनीति करने वाले लोगों को इस देश के चार सिपाही हिंदू मुस्लिम सिख ईसाई कभी पसंद नहीं करेंगे हमारे देश का इतिहास सभी धर्मों की कुर्बानियों से भरा पड़ा है और शाइन बाग में भी सभी धर्मों के लोगों ने सहयोग दे कर नफरत की राजनीति करने वालों को एक सबक दे दिया है की फिरका परस्त ताकतों की नफरत भरी राजनीति के लिए हमारे दिलों में कोई जगह नहीं है और आपसी भाईचारे को तोड़ने वाले काले कानून के खिलाफ सभी एकजुट होकर काला कानून वापस न होने तक आवाज उठाते रहेंगे I

LEAVE A REPLY